IREDA की परफॉरमेंस में लगा ब्रेक दिसंबर में हुई थी जबरदस्त कमाई पढ़े पुरी ख़बर

नमस्कार मित्रों, स्वागत है एक और ताज़ा ख़बर में। जैसा की आप सब जानते है की पिछले साल बहुत सारे ग्रुप्स और उनकी कम्पनियो ने निवेशकों को जमकर कमाई कराई थी। जिससे निवेशकों का बिता साल बहुत अच्छा रहा था साल 2023 सभी प्रकार के निवेशकों के लिए लगभग बेहतर ही था। उस साल निफ़्टी और सेंसेक्स ने भी नई उचाईयों को छुआ था और पूरा मार्केट में पॉजिटिव न्यूज़ ही आ रहीं थी।

इन्ही में से एक कंपनी थी Indian Renewable Energy Dev Agency Ltd (IREDA). इस कंपनी ने बीते वर्ष  में अपना आईपीओ लॉन्च किया था जिसके बाद इसके शेयर प्राइस में जबरदस्त उछाल आया था और IREDA पुरी स्टॉक मार्केट (Market) में तहलका मचा रही थी। लेकिन लगातार अच्छी कमाई देने के बाद इस कंपनी के शेयर प्राइस की ग्रोथ रुक गयी और तभी से इस कंपनी के निवेशकों के लिए ये एक चिंता का विषय बन गया।

दिसंबर में हुई थी जबरदस्त कमाई

बात करे इस शेयर की तो Indian Renewable Energy Dev Agency Ltd (IREDA) ने नवंबर 2023 में अपना आईपीओ लॉन्च किया था जिसपर निवेशकों का अच्छा रेस्पॉन्स रहा और इसीलिए इसके शेयर प्राइस में लॉन्च होने के बाद से दिसंबर के दूसरे सप्ताह तक खूब तहलका मचाया। इस कंपनी का सम्बन्ध रिन्यूअल एनर्जी से है और आने वाले कुछ सालो में इसकी महत्ता कभी ज्यादा हो जाएगी। शायद यही कुछ कारण था जिस लिए निवेशक इसके स्टॉक्स में इंट्रेस्टेड थे।

IREDA पर अब लगा ब्रेक

ख़बर निकल कर आ रही है की Indian Renewable Energy Dev Agency Ltd (IREDA) कंपनी का शेयर प्राइस अब पॉजिटिव ग्रोथ नहीं दिखा रहा है जिससे अब निवेशकों को इस कंपनी से कोई फायदा नहीं मिल रहा है। कंपनी की वर्तमान स्तिथि के कारण ये अब चर्चा का विषय बना हुआ है। लेकिन ऐसा नहीं है की आनेवाले समय में ये कंपनी अच्छा प्रदर्शन नहीं करेगी, क्योंकि हम और आप सभी जानते है की रेंन्युएबल एनर्जी अगले कुछ सालो के लिए कितना जरुरी है और IREDA का सीधा सम्बन्ध इसी सेक्टर है इसीलिए अगर फ्यूचर में ये कंपनी अच्छा परफॉरमेंस दे तो ये चौकने का विषय नहीं होगा।

सम्बंधित खबरें –

सरकार की है हिस्सेदारी

Indian Renewable Energy Dev Agency Ltd (IREDA) कंपनी में सरकार की भी हिस्सेदारी है। इस कंपनी में सरकार का एक बहुत बड़ा योगदान है और इसीलिए प्रमोटर के बाद ये सरकारी हिस्सेदारी वाला कंपनी बना। और कही ना कही इसके IPOs निकालने में सरकारी एजेंसिज का बहुत बड़ा हाथ था क्योंकि उन्हें पता था की इस कंपनी का फ्यूचर बहुत ब्राइट है इसीलिए उन्होंने नवंबर में इसका आईपीओ लॉन्च किया। और आशा के मुताबिक इसने परफॉरमेंस भी दिया।

Leave a Comment