Lakshadweep की खबरों से डबल होगा यह शेयर निवेशकों की होगी तगड़ी कमाई

Lakshyadeep Tourism: नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका एक और ताज ट्रेन फ्रेश न्यूज आर्टिकल में। तो कैसे हैं आप लोग आशा करते हैं स्वस्थ होंगे और आपकी निवेश की जर्नी भी अच्छी चल रही होगी। 2024 का पहला सप्ताह कंप्लीट हो गया है और पहले सप्ताह में ही निवेशकों को 2024 के मार्केट का अंदाजा लग चुका होगा।

जिस प्रकार से पहले सप्ताह गया इस हिसाब से 2024 का मार्केट बहुत ही फुर्तीला नजर आ रहा है। दूसरे सप्ताह की शुरुआत में ही एक चर्चा बड़े जोरों से शोरों से देश में चल रहा है, आखिर क्या है वह चर्चा? और किस प्रकार यह मार्केट को प्रभावित करेगा इस न्यूज़ रिपोर्ट में आप पूरी तरह से इस विषय में जानने वाले हैं।

इस विषय की हो रही पुरे देश में चर्चा

अभी कुछ दिनों पहले भारत के पड़ोसी देश, और टूरिस्ट अटेंशन वाला देश मालदीव्स भारत में चर्चा का विषय बना हुआ है, इन दोनों देशों के बीच का संबंध अब पहले जैसा नहीं रहा। ऐसा हम नहीं करें बल्कि ऐसा तब हुआ जब मालदीव के ही तीन आधिकारिक व्यक्तियों द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कुछ नेगेटिव टिप्पणी की गई। इससे भारत के नागरिक और भारत के ऑफिशल्स मालदीव से बहुत ज्यादा नाराज दिखाई दे रहे हैं। और इसका प्रभाव साफ तौर पर मालदीप के टूरिस्ट एरिया पर देखने को मिल रहा है।

मालदीव्स की अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा भारत को ऊपर निर्भर करता है, और उनके द्वारा की गई टिप्पणी उनके ही देश पर अब नेगेटिव असर दिख रही है। दरअसल भारत के नागरिक जो पहले मालदीप में जाने में इंटरेस्टेड थे वह उसे देश में इंटरेस्टेड नहीं है। अब लोग मालदीप की बजाय लक्षद्वीप में जाने का प्लान बना रहे हैं। इसके अलावा जनवरी के दूसरे सप्ताह में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लक्षद्वीप दौरा भी लक्ष्यद्वीप की उभरती हुई आकर्षण का एक बड़ा कारण है।

मालदीव्स में आया फाइनेंशियल क्राइसिस

जब से मालदीव्स के ऑफिशियल द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के ऊपर गलत टिप्पणी की गई तब से मालदीप की फाइनेंसियल स्थिति गड़बड़ हो गई है। देश के कई सारे टूरिस्ट पैलेस और फ्लाइट्स कैंसिल हो रहे हैं। इससे सारे देशों को यह सबूत मिलता है कि अगर आप भारत के ऊपर डिपेंड है तो भारत के ऊपर कभी नेगेटिव टिप्पणी न करें इससे उन देश को बहुत ज्यादा नुकसान भुगतना पड़ सकता है। मालदीव्स के लिए जाने वाली तकरीबन 3500 फ्लाइट्स कैंसिल हो गई है। और कैंसिल हुए होटल की संख्या अभी ज्ञात नहीं है।

शेयर मार्केट में पड़ेगा प्रभाव

दरसल जब से मालदीव के साथ यह घटना घटी है, और सबसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लक्षद्वीप द्वारा हुआ है और लक्षद्वीप की सुंदर्ताओं का वर्णन किया गया है तभी से भारत के लोग और दूसरे देशों के लोग भी लक्षद्वीप को आकर्षण का एक बड़ा केंद्र मान रहे हैं। इससे लक्षद्वीप और भारत के अर्थव्यवस्था को अच्छा लाभ मिलेगा और जो कंपनियां या ग्रुप टूरिज्म या डेवलपमेंट के सेक्टर में काम करती है उन्हें अच्छा खासा लाभ मिलेगा। इस प्रकार उनके शेयर प्राइस में बड़ा उछाल आ सकता है।

इस पैनी स्टॉक पर बनी रहेगी नजर

इन सभी चर्चाओं के बाद मार्केट एक्सपर्ट्स के द्वारा एक पेनी स्टॉक निकल गया जो फ्यूचर में इस क्षेत्र में अतुल्य काम करेगा और इससे लक्षद्वीप और उसके अर्थव्यवस्था के साथ-साथ भारत का शेयर मार्केट भी प्रभावित होगा। इस कंपनी का नाम है Easy Trip Planners Ltd. यह कंपनी ट्रिप और टूरिज्म से रिलेटेड कार्य करती है।

इस कंपनी के स्टॉक पर अभी से प्रभाव देखने को मिल रहा है। जहां कंपनी का शेयर 1 जनवरी को ₹40 पर कारोबार कर रहा था वह आज ₹46 पर पहुंच गया है। ईजी ट्रिप प्लानर्स लिमिटेड कंपनी के शेयर प्राइस में उछाल का कारण भारत-मालदीव कंट्रोवर्सी को माना जा रहा है। क्योंकि इसी के बाद लक्षद्वीप की ओर टूरिस्ट का टेंशन बढ़ा है, और लोग अपने ट्रिप को प्लान करने के लिए इजी ट्रिप प्लानर्स लिमिटेड का सहारा ले रहे हैं।

कंपनी का डिटेल्ड एनालिसिस

ईजी ट्रिप प्लानर्स लिमिटेड (Easy Trip Planners Ltd) की डिटेल एनालिसिस की बात करें तो इस कंपनी का मार्केट केपीटलाइजेशन 81 से 82 करोड रुपए का है। वही कंपनी की फेस वैल्यू ₹1 के आसपास है, ईजी ट्रिप प्लानर्स लिमिटेड कंपनी में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी लगभग 65% की है कंपनी की लायबिलिटी 349 करोड़ की है, वही इस कंपनी के पास 831 करोड़ के असेट्स उपलब्ध है। इस कंपनी के ऊपर 116 करोड़ रूपये का कर्ज भी है।

Details Amount
मार्केट कैप 81-82 करोड़
फेस वैल्यू 1 रूपये
प्रमोटर्स हिस्सेदारी 65%
कर्ज 116 करोड़
कंपनी की लायबिलिटी 349 करोड़
उपलब्ध एसेट्स 831 करोड़

Leave a Comment